केरल फ्री हैंडलूम स्कूल वर्दी योजना – Kerala Free Handloom School Uniform Scheme

केरल फ्री हैंडलूम स्कूल वर्दी योजनाKerala Free Handloom School Uniform Scheme : स्कूल क्षेत्र और बच्चो की शिक्षा के विकास के उद्देश्य से केरल सरकार एक नयी योजना लेकर आयी है जिसका नाम नि: शुल्क हैंडलूम स्कूल वर्दी योजना रखा गया है। इस योजना के अंतर्गत केरल सरकार राज्य में लगभग 4.5 लाख स्कूली बच्चो को नि: शुल्क हैंडलूम स्कूल वर्दी प्रदान की जाएगी। सरकार ने फ्री स्कूल वर्दी वितरण योजना खास तोर पर स्कूली बच्चो के लिए और इस इसके साथ-साथ हैंडलूम सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए शरू की गई है।

केरल फ्री हैंडलूम स्कूल वर्दी योजना का उद्देश्य – Objective of Kerala Free Handloom School Uniform Scheme

इस योजना के अंतर्गत केरल सरकार राज्य में लगभग 4.5 लाख 1 से 7 वें कक्षा में पढ़ रहे छात्रों को नि: शुल्क हैंडलूम स्कूल वर्दी प्रदान की जाएगी। इस योजना का शुभ आरम्भ 2 मई 2018 को किया जायेगा। योजना के अनुसार राज्य में लगभग 3, 701 स्कूलों को कवर किया जायेगा जिसमे 1 से 7 वें छात्रों के लिए 23 लाख मीटर का कपड़ा वितरित किया जायेगा। इतना ही नहीं इस योजना का मुख्य उद्देश्य शिक्षा के साथ – साथ हैंडलूम सेक्टर को बढ़ावा देना भी है जिससे लोगो को रोजगार के अवसर भी प्राप्त हो सके।

केरल में विकलांग छात्रवृत्ति योजना

केरल फ्री हैंडलूम स्कूल वर्दी योजना के लाभ – Kerala Free Handloom School Uniform Scheme Benefits

  • योजना का शुभारम्भ 2 मई 2018 को किया जायेगा।
  • 3701 से अधिक राज्य स्कूलों में प्रत्येक लाभार्थी छात्र को मुफ्त में वर्दी प्रदान की जाएगी।
  • लगभग 4.5 लाख 1 से 7 वें कक्षा में पढ़ रहे छात्रों को नि: शुल्क हैंडलूम स्कूल वर्दी प्रदान की जाएगी।
  • हैंडलूम उद्योग में काम कर रहे श्रमिकों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।
  • श्रमिकों को रोजगार के रूप में सरकार 400 रुपये से 600 रुपये की वेतन वृद्धि की जाएगी।
  • दैनिक वेतन के आधार पर प्रत्येक श्रम को वेतन दिया जाएगा।

नोट: इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए जररूत नहीं होगी। केवल स्वामित्व वाले स्कूलों में कक्षा 1 से 7 वी कक्षा में पढ़ रहे छात्रों को नि: शुल्क हैंडलूम स्कूल वर्दी स्कूल द्वारा प्रदान की जाएगी।

The post केरल फ्री हैंडलूम स्कूल वर्दी योजना – Kerala Free Handloom School Uniform Scheme appeared first on KhojGuru.