पश्चिम बंगाल स्वयं-सहायता समूह योजना (SHG) – 50 लाख ग्रामीण महिलाओं के लिए 700 करोड़

Self Help Group Scheme (SHG) West Bengalपश्चिम बंगाल स्वयं-सहायता समूह योजना (SHG) – पश्चिम बंगाल की राज्य सरकार करीब 700 करोड़ रुपये की नई योजना शुरू करेगी। पश्चिम बंगाल स्वयं-सहायता समूह योजना (SHG) के तहत लगभग 50 लाख ग्रामीण महिलाओं को लाभ प्रदान करने के लिए 700 करोड़ रुपये इस योजना के अंतर्गत, राज्य सरकार गांवों (ग्रामीण क्षेत्रों) में रहने वाली सभी महिलाओं को प्रशिक्षण और ऋण प्रदान करेगी। इस योजना को शुरू करने के पीछे राज्य सरकार का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को आत्मनिर्भर और स्वतंत्र बनाना है।

Self Help Group Scheme (SHG) West Bengal

पश्चिम बंगाल स्वयं-सहायता समूह योजना (SHG) का विवरण

इस योजना के अंतर्गत,राज्य सरकार राज्य के ग्रामीण महिलाओं को कौशल विकास प्रशिक्षण और व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करेगी। इसके अलावा, स्व-रोजगार के लिए पश्चिम बंगाल सरकार पात्र महिलाओं को भी ऋण प्रदान करेगी इसके अतिरिक्त, राज्य सरकार विश्व बैंक के सरकारी विभागों के माध्यम से SHG के उत्पादों को भी बढ़ावा देगी। यह योजना 3 चरणों में पूरी होगी।

Self Help Group Scheme (SHG) West Bengal

पश्चिम बंगाल स्वयं-सहायता समूह योजना (SHG) – 3 चरण

पश्चिम बंगाल सरकार इस योजना को 3 चरणों में लागू करेगी-

 

  • पहचान और प्रशिक्षण (प्रथम चरण) – इस योजना के पहले चरण में, पश्चिम बंगाल सरकार ग्रामीण महिलाओं की पहचान करेगी, जो SHG योजना के तहत शामिल नहीं हैं। उसके बाद, राज्य सरकार कौशल विकास प्रशिक्षण प्रदान करेगी और इसकी पूरी लागत को भी राज्य सहयोग विभाग द्वारा वहन किया जाएगा।
  • ग्रामीण महिलाओं के लिए ऋण (दूसरा चरण) – दूसरे चरण में, राज्य सरकार गांवों में महिलाओं को ऋण प्रदान करेगी। इसके अलावा, राज्य सरकार विभिन्न सहकारी बैंकों और सहकारी समितियों से ऋण पर ब्याज सब्सिडी प्रदान करेगी।

Check Online West Bengal Ration Card List

 

  • SHG प्रोडक्ट्स का संवर्धन और विपणन (तीसरा चरण) – इस योजना के तीसरे और अंतिम चरण में इन SHG उत्पादों के प्रचार और विपणन शामिल होंगे। इस प्रयोजन के लिए, राज्य सरकार SHG आउटलेट खोलेगी और कृषि विपणन, खाद्य एवं आपूर्ति और छोटे और मध्यम उद्योग विभाग जैसे अन्य राज्य सरकार के विभिन्न विभागों का नेटवर्क भी बनाएगी।

Self Help Group Scheme (SHG) West Bengal

अभी तक, पश्चिम बंगाल में करीब दो लाख सक्रिय स्वयं सहायता समूह हैं और करीब 50 लाख महिलाएं इसके साथ जुडी हैं। राज्य सरकार इस संख्या को 50 लाख से बढ़ाकर 1 करोड़ से अधिक महिलाओं को शामिल करेगी। राज्य सरकार 2018-19 के वित्तीय वर्ष 2018 में 2 लाख से अधिक SHG  खोलने की इस परियोजना को पूरा करेगी।

Self Help Group Scheme (SHG) West Bengal

The post पश्चिम बंगाल स्वयं-सहायता समूह योजना (SHG) – 50 लाख ग्रामीण महिलाओं के लिए 700 करोड़ appeared first on KhojGuru.